COMPUTER MOUSE ऐसा था, जानिए डिटेल में ।

COMPUTER MOUSE ऐसा था, जानिए डिटेल में ।

COMPUTER MOUSE ऐसा था, जानिए डिटेल में

computer mouse history in hindi,

तो आपने ऊपर की इमेज देखी ही होगी उसमे ….जब पहेली बार मैंने भी इसे देखा तो यार मैं सोचते रह गया की यार पहला कंप्यूटर माउस ऐसा था? यक़ीनन आपके भी मन में यही सवाल आया होगा, पर दोस्तों यही है वो पहला कंप्यूटर माउस दुनिया का तो चलिए अब इसके बारे में मै आपको बताता हूँ मतलब इसका इतिहास हम जानते है |

सबसे पहला COMPUTER MOUSE (Computer Mouse History in Hindi) :

दुनिया में सबसे पहला माउस “Douglas Engelbert” इनोने बनाया था, वो १९६२ में बनाया था जो XEROX PARCK नाम के कंपनी में काम करते थे, कंप्यूटर माउस को वो X और Y इंडिकेटर पोजीशन के नाम से बोलते थे | हलाकि कंप्यूटर माउस इसी बेस पे मूव होता है |

COMPUTER MOUSE के काम :

क्या आपने भाहुबलि मूवी देखी है अगर आपका जवाब हाँ हा तो मै आपको बताऊँ अगर माउस ना तो भाहुबलि मूवी भी नहीं होता, जिहां बहुबली मूवी यार और सभी प्रकार के ग्राफ़िक एनीमेशन वाले मूवी बनाने गए है माउस से ही, हाँ उसमे माउस के अलावा और भी टेक्नोलॉजी को इस्तेमाल किया जाता है जैसे ग्रीन स्क्रीन वगैरा पर माउस है तो ग्राफिकल ऑब्जेक्ट ड्रा होते है, अब ये पॉइंट्स जानिए |

१ ) सबसे पहला काम ये है की माउस स्क्रीन का कोई भी पार्ट एक्सेस कर सकते है जैसे अपने घर में कोई चूहा आता है तो वो घर के कोने कोने में जाता है उसी तरह से कंप्यूटर के कोने कोने में जानेवाले पॉइंटर, माउस पॉइंटर होता है |

२) कोई भी इमेज की साइज कम करना ,उसे क्रॉप करना हो, या उस इमेज में कोई पार्ट सेलेक्ट करना हो तो COMPUTER MOUSE  के बिना ये पॉसिबल नहीं है |

३) आप माउस की मदत से लोगो बना सकते है, आप तरह तरह डिज़ाइन बना सकते है |

COMPUTER MOUSE  के बटन :

mouse keys in hindi


स्टैण्डर्ड माउस में याने हम ऑफिस में यूज़ करते है उस माउस में ३ बटन आपको मिलेंगे, लेफ्ट, राइट, SCROLL BUTTON.

१) लेफ्ट बटन को क्लिक, डबल क्लिक , ट्रिपल क्लिक किया जा सकता है | क्लिक का उसे ऑब्जेक्ट या आइकॉन, या इमेज सेलेक्ट करने के लिए होता है, डबल क्लिक का इस्तेमाल फोल्डर ओपन या फाइल ओपन तथा प्रोग्राम ओपन करने के लिए किया जाता है | ट्रिपल क्लिक का उसे माइक्रोसॉफ्ट वर्ड के अंदर सेंटेंस सेलेक्ट करने के लिए किया जाता है |

२ ) SCROLL BAR : इससे आप पेज को नेविगेट याने ऊपर निचे स्क्रॉल कर सकते है, कही सरे सॉफ्टवेयर में इसका इस्तेमाल ज़ूम इन और ज़ूम आउट , मतलब स्क्रीन के आइकॉन को या स्क्रीन में जो सॉफ्टवेयर रन हो रहे उसके किस पार्ट को अछेसे दिखने के लिए ZOOM कर सकते है |

३)  RIGHT CLICK :राइट क्लिक का यूज़ आप राइट क्लिक जो ऑप्शन होते है उसे लाने के लिए किया जाता है राइट क्लिक में ज्यादा तर DELETE COMMAND, RENAME COMMAND, FILE PROPERTIES ऐसे कमांड होते है |

इसके अलावा माउस अलग अलग देस्गिं के होते है जो ऑफिस में नहीं इस्तेमाल करते उनमे कुछ स्पेशल बटन होते है जो इंटरनेट, और म्यूजिक, वीडियोस सॉफ्टवेयर को ऑपरेट करने के लिए होते है, साथ ही में कुछ यूनिक (हटके ) डिज़ाइन के चक्कर में माउस को बहोत अलग अलग शेप दिया गया है |

COMPUTER MOUSE के टाइप :

आजकल आपको बस दो टाइप देखने मिलेंगे एक WIRED MOUSE और दूसरा WIRELESS MOUSE

WIRED MOUSE : जिसे कंप्यूटर में कनेक्ट करने के लिए WIRE  होती HAI, और  ये   PS2 और USB  कनेक्शन के होते है |

WIRELESS MOUSE :  बिना वायर के बस ब्लूटूथ के जरिये कनेक्ट होते है और ये चलने के लिए इसमें एक ६ वाल्ट बैटरी होती है |

COMPUTER MOUSE की सेटिंग्स जानने के लिए आप यहाँ क्लिक करे |

Spread the love

Satish Dhawale

मुझे कंप्यूटर शिक्षण के क्षेत्र में 14 साल का अनुभव है, मैं NRIT संस्थान में ट्यूटर हूँ जहाँ मैंने 14 वर्षों के अंतराल में 40000 से अधिक छात्रों को कंप्यूटर शिक्षा दी। उसके बाद मैंने अपना YouTube चैनल Learn More शुरू किया, जहाँ लोगों ने मेरी शिक्षण शैली को पसंद किया और उनके प्यार से मैं सफल रहा हूँ। आज मेरे पास 7 यूट्यूब चैनल हैं। मैंने अपनी ब्लॉगिंग वेबसाइट भी शुरू की है जहाँ आप अभी हैं। यहाँ मैं कंप्यूटर, MS Office, Tally, MSCIT, Photoshop आदि के बारे में सभी महत्वपूर्ण और ज्ञानवर्धक जानकारी प्रदान करता हूँ। हमारे शैक्षिक मंच www.learnmorepro.com जहां हम सस्ते दर पर कंप्यूटर कोर्स प्रदान करते हैं।

Leave a Reply