Web Hosting Kya Hai? | What is Web Hosting & Why it is important | Blog Guide 2021

Web Hosting Kya Hai? | What is Web Hosting & Why it is important | Blog Guide 2021
Web Hosting Kya Hai

दोस्तों अब बारी है Web Hosting Kya Hai सीखने की। यदि आप भी अपने ब्लॉग के लिए वेबसाईट बनाना चाहते है तो दो जरूरी चीजों की जानकारी आपको जरूर होनी चाहिए, पहला Domain Kya Hai और दूसरा Web Hosting Kya Hai

Domain Kya Hai इसे हमने पिछले ब्लॉग मे काफी विस्तार मे बात चुके है। यदि आप भी जानना चाहते है Domain kya hai तो आपको Domain Kya Hota Hai Aur Blogging Ke Liye Kyu Jaruri Hai? इस ब्लॉग को जरूर पढ़ना चाहिए।

चलिए अब समझते है की Web Hosting Kya Hai?

Web Hosting Kya Hai? | What is Web Hosting in Hindi?

Hosting, जिसे Web Hosting भी कहा जाता है, एक ऐसी सेवा (service) है जो व्यक्तियों और कंपनियो को अपनी वेबसाइट (Website) और ब्लॉग (Blog) बनाने और ऑनलाइन उपयोगकर्ताओं (Online User) के लिए सुलभ बनाने मे मदत करता है ।

यह एक ऑनलाइन स्टोरेज (Online Storage) है, जिसका उपयोग हम अपने ब्लॉग या वेबसाईट के डाटा को स्टोर (Store Data) करने के लिए लिए करते है। सीएमएस इंस्टॉलेशन (CMS Installation) से लेकर उन सभी फाइलों और छवियों (Files and Images) तक, जिन्हें आप अपने ब्लॉग पर साझा करना चाहते हैं।

मान लीजिए आप ब्लॉगिंग के लिए एक Website बना रहे है जिसके लिए आपने अपने Blog का टॉपिक चुना लिया और अपने ब्लॉगिंग के लिए Domain भी खरीद लिया।

अब बात आती है Hosting की। जब कोई व्यक्ति हमारी वेबसाईट पे जाएगा तो उसको हमारी वेबसाईट पे content, Images, Videos आदि जो दिखेगा उसको कही तो स्टोर (रखना) करना होगा। जिसे हम ऑनलाइन सर्वर पे रखेंगे और इसीलिए हमे होस्टिंग लेने की जरूरत पड़ती है।

Online Server एक तरह का कंप्युटर ही होता है जिसमे हम अपने वेबसाईट के डाटा जैसे पिक्चर्स, वीडियोज़, कोड और content आदि को स्टोर करते है।

अब आप सोच रहे होंगे क्या हम अपने कंप्युटर को सर्वर मे नहीं बदल सकते है और अपनी Website को अपने ही कम्प्यूटर मे स्टोर कर ले?

तो इसके जवाब मे मैं यह कहना चाहूँगा की हम चाहे तो ऐसा कर सकते है लेकिन ये बहुत ही मुस्किल होता है। एक वेबसाईट को होस्ट करने के लिए २४ घंटे बिजली और इंटरनेट सेवा की जरूरत होती है, जिससे दुनिया मे यदि कोई व्यक्ति कही से भी हमारी वेबसाईट को विज़िट करता है तो वह हमारी वेबसाईट पे जा सके।

लेकिन हमारे साथ ऐसा हो सकता कि कभी बिजली चली जाए या इंटरनेट सेवा बाधित हो जाए। या फिर हो सकता है हमारे कंप्युटर मे कुछ हार्डवेयर समस्या हा जाए, ऐसे मे कोई व्यक्ति हमारी वेबसाईट पे जाना चाहे, तो वह नहीं जा पाएगा। जो एक तरह का बहुत जी खराब ग्राहक अनुभव होगा।

इसीलिए बहुत सारी कंपनियां ऑनलाइन सर्वर पे चलती है। २४ घंटे बिजली और इंटरनेट के साथ जो महीने या साल के शुल्क के रूप मे आपसे कुछ अमाउन्ट लेते है और हमे एक सर्वर दे देते है जिसमे हम अपनी वेबसाईट को होस्ट कर सकते है। और Remote एक्सेस के जरिए हम अपनी वेबसाईट के डाटा, कंटेन्ट, ईमजेस या वीडियोज़ को सर्वर पे डाल सकते है।

Web Hosting Ke Prakar | Types Of Web Hosting

अब हम देखते है Hosting के कितने Types होते है यानि हम कितने प्रकार की होस्टिंग (Types Of Web Hosting) को खरीद सकते है।

1. Shared Hosting

Shared Hosting, वेब होस्टिंग (Web Hosting) का सबसे पहला प्रकार है। यह लागत प्रभावी है और नई और छोटी स्तर की वेबसाइटों के लिए सबसे अच्छा विकल्प है।

Shared Hosting – Web Hosting Kya Hai

जैसा कि नाम से ही पता चल रहा है, Shared Hosting का उपयोग करने वाली वेबसाइटें एक ही सर्वर पर अन्य वेबसाइटों के साथ संसाधनों को साझा करती है।

Server के संसाधनों को विभाजित करके, यह वेब होस्ट के लिए सबसे सस्ते मे Hosting देने का तरीका होता है।

यदि आप अपनी वेबसाइट पर १०,००० से कम मासिक विज़िट की उम्मीद कर रहे हैं, तो आप एक Shared Web Hosting योजना का चुनना चाहिए।

२. VPS Hosting

VPS का फूल फॉर्म “Virtual Private Server” होता है। VPS Hosting, Share Web Hosting से एक कदम आगे होता है। जब किसी website पे महीने १०००० या २०००० से अधिक विज़िट आ रहे है और वह वेबसाईट की गति धीमी हो गई है तब उस वेबसाइट को Share Hosting से आगे अपग्रेड करना होता है और उसके लिए VPS Hosting अगला बहुत ही बढ़िया कदम होता है।

VPS Hosting – Web Hosting Kya Hai

Virtual Private Server के साथ, आपकी वेबसाइट अभी भी एक सर्वर को अन्य वेबसाइटों के साथ साझा (shared) कर रही होती है। लेकिन, जिन वेबसाइटों के साथ आप इसे साझा कर रहे हैं, उनकी संख्या काफी कम है, इसीलिए Shared Hosting के मुकाबले मे VPS होस्टिंग वेबसाईट की गति अधिक होती है।

Virtual Private Server Hosting को मुख्य सर्वर (Main Server) मे कई वर्चुअल सर्वरों (Virtual Server) में विभाजित करके बनाया जाता है। इसलिए नाम Virtual Private Server होता है । इन वर्चुअल सर्वरों (Virtual Private Server) को अलग-अलग वेबसाइटों द्वारा जरूरत के अनुसार अनुकूलित (Customize) किया जा सकता है।

३. Dedicated Hosting

Dedicated Hosting को आमतौर पर वेब होस्टिंग (Web Hosting) में सबसे अच्छा विकल्प माना जाता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि आपके पास एक समर्पित सर्वर (Dedicated Server) है जो आपका होता है और उसमे सिर्फ आपकी ही Website होस्ट होती है। आप आमतौर पर Dedicated Hosting के साथ अधिक अधिक अपटाइम और तेज गति जैसे लाभ प्राप्त कर सकते हैं।

Dedicated Hosting – Web Hosting Kya Hai

हालाँकि, यह वेब होस्टिंग (Web Hosting) का सबसे महंगा प्रकार है। चूंकि इस Server पे सिर्फ आपकी वेबसाईट होस्ट होती है इसलिए आपकी साइट का प्रदर्शन काफी बढ़िया और जबरदस्त होता है।

Dedicated Hosting पर होस्ट की जा रही वेबसाइटों (Websites) का सर्वर सेटिंग्स (Server Setting) पर पूरी तरह से तकनीकी नियंत्रण (Technical Control) होता है। आप अपनी जरूरत के अनुसार कोई भी सॉफ्टवेयर (Softwares), कॉन्फ़िगरेशन (Configuration) को चुन सकते है।

एक Dedicated Hosting होना घर के मालिक होने जैसा है। जहां आप चाहे बेडरूम की सेटिंग करें, किचन अपडेट करे, बगीचा बनाए, मनचाहा पेड़ लगाए, आप कुछ भी कर सकते है यह पूरी तरह आप पर निर्भर है।

Dedicated Hosting योजनाएँ आमतौर पर एंटरप्राइज़-स्तरीय वेबसाइटों के लिए होती हैं। इसे तब लिया जाता है जब किसी वेबसाईट पे १००,००० से अधिक मासिक विज़िट होती है। यदि आपके वेबसाईट पे इससे कम ट्राफिक आता है तो इसे होस्टिंग को लेने की जरूरत नहीं है।

४. Cloud Hosting

Cloud Hosting प्लान कई रिमोट सर्वर (Remote Server) के साथ आते हैं। प्रत्येक सर्वर की अलग-अलग जिम्मेदारियां होती हैं। यदि सर्वरों में से एक सर्वर मे कोई घराबी आती है या कोई समस्या है, तो नेटवर्क पर अन्य सर्वर से उस सर्वर की जिम्मेदारी को संभालेंगे।

Cloud Hosting – Web Hosting Kya Hai

यह एक नए प्रकार का होस्टिंग प्लेटफ़ॉर्म है जो ग्राहकों को शक्तिशाली, स्केलेबल और विश्वसनीय होस्टिंग की अनुमति देता है।

क्लाउड सर्वर के साथ, आपकी वेबसाइट की अपटाइम दरें अधिक होती है और सर्वर के एरर के कारण उतना डाउनटाइम नहीं होता है। आपकी साइट ऑनलाइन बनी रहेगी और उच्च स्तर पर प्रदर्शन करेगी।

साथ ही, क्लाउड होस्टिंग साइटों (Cloud Hosting Websites) के लिए स्थानीय बिजली व्यवधान या यहां तक कि प्राकृतिक आपदाएं भी कम समस्याग्रस्त होता हैं, क्योंकि क्लाउड होस्टिंग एक ही स्थान से काम नहीं करता है।

क्लाउड होस्टिंग (Cloud Hosting) मध्यम और बड़ी व्यावसायिक वेबसाइटों के लिए सबसे अच्छा विकल्प है, जो तेजी से बढ़ रही हैं।

यदि आपकी वेबसाइट का ट्रैफ़िक अप्रत्याशित है और आप आने वाले महीनों या वर्षों में इसे स्थिर दर से बढ़ाने की योजना बना रहे हैं, तो आपको क्लाउड होस्टिंग योजना पर विचार करना चाहिए।

50,000 से अधिक मासिक पृष्ठ विज़िट वाली कोई भी वेबसाइट क्लाउड योजना पर विचार कर सकती है। वे वेबसाइटें जो अपनी Share Hosting योजना से आगे निकल चुकी हैं और जिन्हें अपग्रेड करने की आवश्यकता है, वे VPS के वैकल्पिक विकल्प के रूप में क्लाउड होस्टिंग (Cloud Hosting) को चुन सकते है।

Web Hosting kahan se Kharide

नीचे आपके साथ कुछ होस्टिंग प्रवाइडर की लिस्ट दी गई जिसंकी वेबसाईट पे जा के आप जरूरत अनुसार होस्टिंग ले सकते है।

Spread the love

Satish Dhawale

मुझे कंप्यूटर शिक्षण के क्षेत्र में 14 साल का अनुभव है, मैं NRIT संस्थान में ट्यूटर हूँ जहाँ मैंने 14 वर्षों के अंतराल में 40000 से अधिक छात्रों को कंप्यूटर शिक्षा दी। उसके बाद मैंने अपना YouTube चैनल Learn More शुरू किया, जहाँ लोगों ने मेरी शिक्षण शैली को पसंद किया और उनके प्यार से मैं सफल रहा हूँ। आज मेरे पास 7 यूट्यूब चैनल हैं। मैंने अपनी ब्लॉगिंग वेबसाइट भी शुरू की है जहाँ आप अभी हैं। यहाँ मैं कंप्यूटर, MS Office, Tally, MSCIT, Photoshop आदि के बारे में सभी महत्वपूर्ण और ज्ञानवर्धक जानकारी प्रदान करता हूँ। हमारे शैक्षिक मंच www.learnmorepro.com जहां हम सस्ते दर पर कंप्यूटर कोर्स प्रदान करते हैं।

This Post Has One Comment

Leave a Reply