Learn More

How to use Receipt Voucher in Tally in Hindi?

Receipt Voucher in Tally in Hindi: Vouchers एक प्राथमिक दस्तावेज है जिसमें लेनदेन के संबंध में सभी जानकारी होती है। Accounting (लेखांकन), Inventory (इन्वेंट्री), Payroll (पेरोल) और Order (ऑर्डर) के लिए 24 पूर्व-परिभाषित Vouchers प्रकार हैं।

आप अपनी व्यावसायिक आवश्यकताओं (Business requirement) के अनुसार इन पूर्व-परिभाषित Vouchers प्रकारों के तहत अधिक वाउचर प्रकार बना सकते हैं। जिन्हे हम एक एक करके आगे समझेंगे।

पूर्व-परिभाषित वाउचर प्रकार देखें (To View the Pre-Defined Voucher Types)।

List of Voucher Types

Tally में Receipt Voucher क्या है? What is Receipt Voucher in Tally Prime?

यदि किसी Party (पार्टी) से कोई राशि प्राप्त (Amount received) हो रही है या फिर कोई सामान नकदी पर बेचा जा रहा है (Sold on cash) या जब व्यापार में को पूंजी व्यापारी द्वारा लगाई जाती है (Amount Invested by Businessman) उस समय हम Receipt Voucher में उसकी एंट्री दर्ज करते है।

आप Single Entry या Double Entry मोड का उपयोग करके लेन देन की एंट्री (Transaction entry) को Receipt Voucher रिकॉर्ड कर सकते हैं।

What is Shortcut Key of Receipt Voucher in Tally in Hindi?

Tally में रसीद वाउचर (Receipt Voucher) बनाने के लिए Shortcut Key “F6” है। यह वाउचर प्रकार बोरी से आया हुआ भुगतान या रसीदों को दर्ज करने के लिए सामान्यत: इस्तेमाल किया जाता है।

“F6” Shortcut Key का उपयोग करके, रसीद वाउचर फार्म में डेटा दर्ज करने का एक त्वरित तरीका मिलता है।

Receipt Voucher on Double Entry Mode

Single Entry से पहले मैं आपको Double Entry बताना चाहता हु। Double Entry में, व्यापार में जब भी कोई Transaction होता है, तो उसमे दो चीजें होती है एक Debit (Dr) और दूसरा Credit (Cr) जैसा हमने Accounting चैप्टर में देखा था।

  • Receipt Voucher के हर एक Transaction में राशि प्राप्त होती है, जो Cash (नकद) या Bank (बैंक) के रूप में आती है।
  • अब Cash और Bank ये Real Account के अंतर्गत आते है और Real Account का रूल है “Debit What Comes In” मतलब जो आ रहा है उसे Debit करे।
  • तो हमारे पास यहाँ Cash या Bank आ रहा है उसे Debit करना होता है। और Receipt Voucher में आने वाले हर Transaction में Cash या Bank हमेशा Debit ही होंगे।
उदहारण के लिए, Ajay started a business with Rs 500000/-
यहाँ पे अजय अपना व्यापार शुरू कर रहा है। तो अजय यहाँ पे व्यापारी है और व्यापारी द्वारा लाई गयी राशि व्यापार में Capital (पूंजी) कहलाती है। इस Transaction की एंट्री कुछ इस प्रकार होगीDr: Cash A/c
Cr: Capital A/c

चलिए इसी एंट्री को हम टैली में दर्ज करते है जिसके लिए आपको निचे दिए गए चरणों कर पालन करना होगा।

सबसे पहले हम Receipt Voucher मे जाएंगे।

Gateway of Tally > Vouchers or Shortcut: V > Shortcut F6 – Receipt Voucher> Shortcut Ctrl + H – Change Mode > Select Double Entry।  

Date:आप F2 का उपयोग करके Date (दिनांक) को बदल सकते है। (Note: Date को आप Educational Mode में 1,2, और 31 ही रख सकते है।) 
Particular:Credit (Cr): आपको उस Account का Ledger सेलेक्ट करना जिसमें आपको Cr (Credit) की एंट्री पास करनी है और उसका Amount डालना है।Debit (Dr): आपको Cash or Bank का Ledger सेलेक्ट करना जिस में आपको Dr (Debit) की एंट्री पास करनी है और उसका Amount डालना है। Note: डेबिट और क्रेडिट के कुल Amount बराबर ही होने चाहिए अगर किसी Account का ledger पहले से तैयार नहीं है, तो किसी भी Voucher में Entry (एंट्री) पास करते समय आप Shortcut: Alt + C का उपयोग करके Ledger को तुरंत बना सकते हैं।
Narration:आपको Narration (आख्‍यान) बताना है। जिससे आपको बाद में पता चल सके कि यह एंट्री किस Transaction की है। (यह प्रत्येक वाउचर में होता है)
Accept:अंत में आपको Entry (एंट्री) को Accept करना है। आप Enter या Y का उपयोग कर सकते है।

Receipt Voucher in Tally on Double Entry Mode

Receipt Voucher on single Entry Mode

इस मोड का ज्यादातर उपयोग नहीं किया जाता है। लेकिन कुछ कुछ जगहों पर इसका उपयोग करके आप अपने काम को आसान बना सकते है। Single Entry Mode सभी Vouchers में उपलब्ध नहीं होता है, ये किसी किसी Voucher में टैली द्वारा उपलब्ध कराये गए है।

जैसा कि हमने अभी समझा Receipt Voucher में Cash या Bank हमेशा Debit (डेबिट) होगा। तो हम जब भी कोई एंट्री पास करेंगे, तो Cash/Bank को Debit करेंगे और दूसरे Account को Credit (क्रेडिट) करेंगे। लेकिन Single Entry Mode में आपको सिर्फ एक ही एंट्री करनी होती है, वो भी Credit (क्रेडिट) की।

अब आप पूछेंगे तो फिर Debit entry (डेबिट एंट्री) का क्या होगा?

उसके लिए सिंगल एंट्री मोड में आपको टैली, Voucher के शुरुवात में ही Account Select करने की सुविधा देता है, जैसे Cash या Bank A/c।

Cash या Bank A/c सेलेक्ट करने बाद आपको Credit में आने वाले Account की एंट्री करते जाना है बस। और अगर आप बाद में मोड को डबल एंट्री करके देखंगे, तो टैली सिंगल एंट्री मोड को अपने आप डबल एंट्री में बदल देता है।

क्युकी हमने Debit के लिए पहले ही Cash या Bank अकाउंट को सेलेक्ट किया होता है। अपने टैली में इसे सक्रिय करने कि लिए आपको निचे दिए चरणों का पालन करना है:

Gateway of Tally > Vouchers or Shortcut: V > F6 – Receipt Voucher> Ctrl + H – Change Mode > Select Single Entry मे जाए।

उदहारण, 10000 received from Shahrukh and 20000 from Salman.
इस Transaction में बताया जा रहा है की हमें शाहरुख़ से 10000 और सलमान से 20000 रुपये प्राप्त हुए है। इसकी एंट्री हम Receipt Voucher में Single Entry Mode का उपयोग करते हुए कुछ इस तरह पास करेंगे।

Dateआप F2 का उपयोग करके Date (दिनांक) को बदल सकते है। (Note: Date को आप Educational Mode में 1,2, और 31 ही रख सकते है।) 
Accountयहाँ पे आपके कंपनी की Cash और Bank Accounts के Ledgers सेलेक्ट करने है। जिसे टैली खुद से Debit करेगा।
ParticularParticular में आपको सिर्फ Credit होने वाले Ledger Account को सेलेक्ट करना है और Amount को दर्ज करना है। यहाँ आप एक से ज्यादा Ledger Account सेलेक्ट कर सकते हो।
Narrationआपको Narration (आख्‍यान) बताना है। जिससे आपको बाद में पता चल सके कि यह एंट्री किस Transaction की है।
Acceptअंत में आपको Entry (एंट्री) को Accept करना है। आप Enter या Y का उपयोग कर सकते है।

Receipt Voucher on Single Entry Mode

इसी तरह आपको निचे कुछ लेन देन की एंट्री (Transaction entry) दी गई है जिसका आप Tally मे कंपनी बनके उसका अभ्यास कर सकते है।

Ajay sold goods to Ravi Pvt Ltd worth 20000/-
इस एंट्री में अजय जो कि व्यापारी है। उसने अपने एक कस्टमर(रवि प्राइवेट लिमिटेड) को 20000 रुपये में माल बेचा है। तो यहाँ पे हमारे पास 20000 रुपये आ रहे है और हमारे पास से माल जा रहा है।Dr: Cash A/c – 20000
Cr: Sales A/c – 20000

हमें यहाँ पे एक बात पे ध्यान देना है कि कही भी ऐसा नहीं बताया गया है कि माल को उधारी बेचा गया है। अगर माल को उधारी बेचा होता तो हम इसकी एंट्री Sales Voucher करते न कि Receipt Voucher में।

Rs 10000 received from Anil company.
यहाँ पे हमें अनिल कंपनी से 10000 रुपये की राशि प्राप्त हो रही है और कुछ बताया नहीं गया है। तो हम यह अनुमान लगाएंगे कि अनिल कंपनी हमारा Sundry Debtor है। जिसे हमने कुछ समय पहले उधारी माल बेचा होगा जिसका भुगतान वह हमें आज कर रहे है।Dr: Cash A/c 10000
Cr: Anil Co. A/c 10000

कुछ महत्वपूर्ण जानकारी:

  • किसी भी वाउचर मे पुरानी एंट्री पे जाने के लिए आप कीबोर्ड से Page Up/Page Down बटन का उपयोग कर सकते है।
  • Shortcut Key: F12 या Configure का उपयोग करके आप Voucher में अपनी आवश्कतानुसार बदलाव कर सकते है। जैसे General Details, Bank Details, GST Details।
Receipt Voucher – Configuration

TallyPrime With GST Course

Complete TallyPrime Course with Accounting Theory, Practical with Service, Trading and MFG Accounting & More

टैलीप्राइम छोटे और मध्यम व्यवसायों के लिए एक संपूर्ण व्यवसाय प्रबंधन सॉफ्टवेयर है। टैलीप्राइम आपको जटिलताओं से छुटकारा पाने के लिए लेखांकन, इन्वेंट्री, बैंकिंग, कराधान, बैंकिंग, पेरोल और बहुत कुछ प्रबंधित करने में मदद करता है, और बदले में, व्यवसाय विकास पर ध्यान केंद्रित करता है।

TallyPrime With GST Course

इस कोर्स में आप शुरुआती से लेकर एडवांस तक जीएसटी के साथ टैलीप्राइम सीखेंगे। (सतीश धवले सर द्वारा पाठ्यक्रम) सभी पाठ्यक्रम आसान हिंदी भाषा में | आगे पढ़ें और कोर्स के बारे में जानने के लिए यहां क्लिक करें |

पाठ्यक्रम की विशेषताएं
✅सभी कोर्सेज सरल हिंदी भाषा में
✅टैलीप्राइम जीएसटी के साथ एडवांस कोर्सेज
✅124 विस्तृत वीडियो ????
✅ कोर्स प्रैक्टिस फ़ाइलें उपलब्ध हैं
✅कोर्स कंपलीशन दुकान
✅इंस्टेंटएक्सेंट –

निःशुल्क बोनस-
✅ पीडीएफ पैटर्न
✅ टैली प्राइम ई-बुक हिंदी में

Enroll Now

FREQUENTLY ASKED QUESTIONS

टैली क्या है?
टैली अकाउंटिंग सॉफ्टवेयर है जिसे बिक्री, वित्त, निर्माण, खरीद और इन्वेंट्री जैसे आपके सभी व्यावसायिक कार्यों को स्वचालित और एकीकृत करने के लिए डिज़ाइन किया गया है।

आसानी से टैली कैसे सीख सकते हैं?
आप हमारे नीचे दिए गए प्लेटफॉर्म से आसानी से टैली सीख सकते हैं:
यूट्यूब चैनल से सीखे: Tally Tutorial
ब्लॉग सीखे: https://learnmoreindia.in/category/tally-tips/
हमारा टैली कोर्स चेक करें: टैली प्राइम फुल कोर्स

टैली कोर्स क्या है?
टैली मूल रूप से एक कंप्यूटर सॉफ्टवेयर है जो छोटे और बड़े उद्योगों द्वारा लेखांकन उद्देश्यों के लिए व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है यह एक लेखा सॉफ्टवेयर है जहां सॉफ्टवेयर की सहायता से सभी बैंकिंग और लेखा परीक्षा, लेखा कार्य किए जाते हैं।
Tally Course from Beginners to Advance : Language: Hindi

टैली प्राइम और टैली ERP9.0 में क्या अंतर है?
टैली प्राइम और टैली ERP मे अंतर जानने के लिए हमारा यह यह विडिओ देखें।

टैली में गोल्डन रूल क्या है?
टैली मे गोल्डन रूल को सीखने के लिए हमारा यह 3 Golden Rules Of Accounting Explained In Hindi ब्लॉग पढे, जहां हमने पूरी डीटेल जानकारी दी है।

क्या टैली सीखना मुश्किल है?
नहीं, टैली सीखना कठिन नहीं है। यदि आप लेखांकन की मूल बातें जानते हैं तो यह एक साधारण लेखा सॉफ्टवेयर है। … जीएसटी के आने के बाद, टैली कुछ बदलावों के साथ विकसित हुआ है, इसलिए आपको उद्योग से संबंधित पाठ्यक्रम के साथ एक प्रतिष्ठित संस्थान से उन्नत तकनीकों को सीखने की जरूरत है। टैली को लोकप्रिय रूप से एक अकाउंटिंग सॉफ्टवेयर के रूप में जाना जाता है।

टैली का आविष्कार किसने किया?
भारत गोयनका ने बिना किसी कोड के ‘द अकाउंटेंट’ नामक एक अकाउंटिंग सॉफ्टवेयर विकसित किया। उन्होंने और उनके पिता ने मिलकर 1986 में Peutronics की शुरुआत की – 1988 से इसका नाम बदलकर Tally कर दिया गया। नवीनतम संस्करण Tally 9 है जो दुनिया का पहला समवर्ती बहुभाषी व्यापार लेखा और सूची सॉफ्टवेयर है।

टैली के फ्री नोट्स कहाँ से डाउनलोड कर सकते है?
यदि आप टैली से जुड़े नोट्स फ्री मे पान चाहते है तो हमारा Telegram Channel: Learn More जॉइन करे।

टैली के फ्री टेस्ट कहाँ दे सकते है?
यदि आप टैली के बारे मे अपना ज्ञान जाँचना चाहते है तो इस लिंक पे जाके क टैली के फ्री टेस्ट दे सकते है। https://learnmoreindia.in/category/online-test/tally-online-test/

Spread the love

Leave a Comment