Learn More

How to use Purchase Voucher in Tally in Hindi?

Tally में Purchase Voucher क्या होता है?

Tally में, Purchase Voucher एक व्यापार लेन-देन का दस्तावेज़ है जिसमें व्यापारिक लेनदेन की जानकारी होती है जो किसी व्यक्ति या कंपनी द्वारा किए गए खरीदों (पर्चेज) को दर्ज करने के लिए इस्तेमाल होता है। इसमें खरीदारी के सामान, माल या सेवाओं के बारे में विवरण होता है, जिसमें माल की मात्रा, मूल्य, कर, और अन्य संबंधित जानकारी शामिल होती है।

Purchase Voucher में कुछ महत्वपूर्ण जानकारी शामिल होती है, जैसे कि:

  1. Supplier Details (आपूर्ति करने वाले का विवरण): इसमें व्यापारी या कंपनी के आपूर्ति करने वाले का नाम और पता होता है।
  2. Item Details (माल का विवरण): यहां उन सभी आइटमों का विवरण होता है जो खरीदे गए हैं, जैसे कि माल का नाम, मात्रा, मूल्य, और कोड।
  3. Tax Details (कर का विवरण): इसमें विभिन्न प्रकार के करों का विवरण होता है, जैसे कि GST (वस्तु एवं सेवा कर) या अन्य स्थानीय कर।
  4. Payment Details (भुगतान का विवरण): इसमें यह दिखाया जाता है कि खरीद का भुगतान कैसे किया गया है, जैसे कि नकद, बैंक ट्रांसफर, या अन्य भुगतान के तरीके।
  5. Voucher Number (वाउचर नंबर): हर वाउचर को एक अद्वितीय नंबर से पहचाना जाता है जिससे उसे अन्य लेन-देन से अलग किया जा सकता है।

इसके अलावा, यह ध्यान देने योग्य है कि Tally में विभिन्न संबंधित सेटिंग्स का उपयोग करके विभिन्न प्रकार के करों और लेन-देन से संबंधित विवरणों को दर्ज किया जा सकता है।

Tally Prime में Purchase Voucher की Shortcut Key क्या हैं?

Tally Prime में Purchase Voucher को खोलने के लिए, आपको निम्नलिखित Shortcut Key का उपयोग कर सकते हैं:

  1. Gateway of Tally में जाएं: इसके लिए आप तल्ली को खोलें और Gateway of Tally पेज पर पहुंचें।
  2. ट्रांजैक्शन वॉउचर लिस्ट में जाएं: वहां, “ट्रांजैक्शन” मेनू में जाएं और फिर “वॉउचर टाइप” का चयन करें।
  3. Purchase Voucher का चयन करें: “Purchase Voucher” को चुनें जिससे आप Purchase Voucher पेज पर पहुंच जाएंगे।
  4. Shortcut Key: Purchase Voucher पेज पर पहुंचने के लिए, आपको F9 दबाना होगा। इससे नया Purchase Voucher बनेगा और आप नए लेन-देन को दर्ज कर सकते हैं।

तो, संक्षेप में, Purchase Voucher को खोलने के लिए Tally Prime में Shortcut Key F9 है।

उदाहरण: Tally में Purchase Voucher की एंट्री कैसे पास करे?

जब व्यापार में कोई माल या सुविधा उधारी ख़रीदा जाता है, तो उसकी एंट्री टैली में Purchase Voucher में की जाती है। Purchase Voucher में एंट्री करने के 3 मोड होते है। Purchase Voucher का उपयोग करने के लिए: Gateway of Tally > Voucher > Shortcut: F9 – Purchase मे जाए।

Mode 1 – Item Invoice:

इस मोड में एंट्री करने के लिए निचे बताये गए चरणों का पालन करे। इस मोड का उपयोग करते समय आपको एक बात का ध्यान देना है कि खरीदी गयी वस्तुओं की संख्या और प्रति दर की कीमत होनी चाहिए।

Gateway of Tally > Voucher > F9 – Purchase > CTRL + H or Change mode > Item Invoice मे जाए।

Dateआप F2 का उपयोग करके Date (दिनांक) को बदल सकते है। (Note: Date को आप Educational Mode में 1,2, और 31 ही रख सकते है।) 
Supplier Invoice No and DateSupplier द्वारा प्राप्त Invoice Bill से Invoice No और Invoice Date को डाले
Party A/c NameParty A/c के Ledger को चुने, जिससे आपने वस्तु या माल उधारी ख़रीदा है।
Purchase LedgerPurchase A/c का Ledger को चुने।
Nature of Itemवस्तु या माल की जानकारी दे।
Quantityखरीदी गयी वस्तुओं की संख्या बताए।
Rate (Per)Rate Per (प्रति दर) की जानकारी दे।
Amountयह स्वचालित (Automatically) रूप से आ जाएगा।
Narrationआपको Narration (आख्‍यान) बताना है जिससे आपको बाद में पता चल सके कि यह एंट्री किस Transaction की है।
Acceptअंत में आपको Entry (एंट्री) को Accept करना है। आप Enter या Y का उपयोग कर सकते है।

Computer Mouse (20 QTY Per 1000) & Monitor (10 QTY Per 2000) Purchased from Sharma & CO on Credit.
इस एंट्री मे हम Sharma & Co से 20 Mouse Computer 1000 प्रति दर और 10 Monitor 2000 प्रति दर से उधारी खरीद रहे है। 

Purchase Voucher - Mode 1 - Item Invoice

Mode 2 – Accounting Invoice:

इस मोड का उपयोग ज्यादातर सेवा (Services) लेते समय या सेवा प्राप्त करनेवाली कॉम्पनियों द्वारा किया जाता है। Gateway of Tally > Voucher > F9 – Purchase > CTRL + H or Change mode > Accounting Invoice मे जाए।

Dateआप F2 का उपयोग करके Date (दिनांक) को बदल सकते है। (Note: Date को आप Educational Mode में 1,2, और 31 ही रख सकते है।) 
Supplier Invoice No and DateSupplier द्वारा प्राप्त Invoice Bill से Invoice No और Invoice Date को डाले।
Party A/c NameParty A/c के Ledger को चुने। जिससे आपने वस्तु या माल उधारी ख़रीदा है।
ParticularsParticular में आपको सिर्फ Debit होने वाले Ledger Account को सेलेक्ट करना है और Amount को दर्ज करना है। यहाँ आप एक से ज्यादा Ledger Account सेलेक्ट कर सकते हो । ये ज्यादातर Purchase’s ledger ही होता है ।
Rate (Per)Rate Per की जानकारी दे।
Amountयहाँ पे राशि डालना है।
Narrationआपको Narration (आख्‍यान) बताना है जिससे आपको बाद में पता चल सके कि यह एंट्री किस Transaction की है ।
Acceptअंत में आपको Entry (एंट्री) को Accept करना है। आप Enter या Y का उपयोग कर सकते है

Goods worth 10000 purchased from Sharma & CO on Credit.
इस एंट्री मे हम Sharma & Co से 10000 रुपये के माल उधारी खरीद रहे है। 

Purchase Voucher - Mode 2 - Accounting Invoice

Mode 3 – As Voucher:

ये बिलकुल Double Entry Mode की तरह ही होता है। जहाँ आपको Debit और Credit होने वाले Ledger को सेलेक्ट करना होता है। इसमें Purchase A/c ही Debit होता है और Sundry Creditor ही Credit होता है।

Dateआप F2 का उपयोग करके Date (दिनांक) को बदल सकते है। (Note: Date को आप Educational Mode में 1,2, और 31 ही रख सकते है।) 
Supplier Invoice No and DateSupplier द्वारा प्राप्त Invoice Bill से Invoice No और Invoice Date को डाले ।
Particulars (Debit and Credit)Credit (Cr): आपको Ledger account सेलेक्ट करना है। जिसमें आपको Cr (Credit) की एंट्री पास करनी है और उसका Amount डालना है। ये ज्यादातर वो पार्टी होती है, जिससे हमने माल उधारी ख़रीदा है। 
Debit (Dr): आपको Ledger account सेलेक्ट करना हैं। जिसमें आपको Dr (Debit) की एंट्री पास करनी है और उसका Amount डालना है। ये ज्यादातर Purchase’s ledger ही होता है। Purchase A/C को डेबिट करने के बाद आपके सामने Inventory Allocation का विंडो आता है। जहाँ पे हमें ख़रीदे हुए वस्तु की जानकारी प्रदान करनी होती है जैसे उसकी संख्ता (Quantity), उसका प्रति दर (Rate Per) आदि। ये वैकल्पिक होता है तो आप इसे बिना भरे भी एंट्री पास कर सकते हो।

Narrationआपको Narration (आख्‍यान) बताना है, जिससे आपको बाद में पता चल सके कि यह एंट्री किस Transaction की है।
Acceptअंत में आपको Entry (एंट्री) को Accept करना है। आप Enter या Y का उपयोग कर सकते है।

Purchased Goods from Sharma & Co worth Rs 22000 on credit
चलिए इसकी एक एंट्री हम पास करके देखते है ऊपर दिए ट्रांसक्शन से पता चल रहा है की हमने Sharma & Co.से 22000 रुपये का माल उधारी खरीदा है जिसकी एंट्री कुछ इस प्रकार होगीDr Purchase A/c
Cr: Sharma & Co.

Purchase Voucher - Mode 3 - As Voucher

Tally Prime With GST Course

Complete Tally Prime Course with Accounting Theory, Practical with Service, Trading and MFG Accounting & More

टैलीप्राइम छोटे और मध्यम व्यवसायों के लिए एक संपूर्ण व्यवसाय प्रबंधन सॉफ्टवेयर है। टैलीप्राइम आपको जटिलताओं से छुटकारा पाने के लिए लेखांकन, इन्वेंट्री, बैंकिंग, कराधान, बैंकिंग, पेरोल और बहुत कुछ प्रबंधित करने में मदद करता है, और बदले में, व्यवसाय विकास पर ध्यान केंद्रित करता है।

TallyPrime With GST Course

इस कोर्स में आप शुरुआती से लेकर एडवांस तक जीएसटी के साथ टैलीप्राइम सीखेंगे। (सतीश धवले सर द्वारा पाठ्यक्रम) सभी पाठ्यक्रम आसान हिंदी भाषा में | आगे पढ़ें और कोर्स के बारे में जानने के लिए यहां क्लिक करें |

पाठ्यक्रम की विशेषताएं
✅सभी कोर्सेज सरल हिंदी भाषा में
✅टैलीप्राइम जीएसटी के साथ एडवांस कोर्सेज
✅124 विस्तृत वीडियो ????
✅ कोर्स प्रैक्टिस फ़ाइलें उपलब्ध हैं
✅कोर्स कंपलीशन दुकान
✅इंस्टेंटएक्सेंट –

निःशुल्क बोनस-
✅ पीडीएफ पैटर्न
✅ टैली प्राइम ई-बुक हिंदी में

Enroll Now

FREQUENTLY ASKED QUESTIONS

टैली क्या है?
टैली अकाउंटिंग सॉफ्टवेयर है जिसे बिक्री, वित्त, निर्माण, खरीद और इन्वेंट्री जैसे आपके सभी व्यावसायिक कार्यों को स्वचालित और एकीकृत करने के लिए डिज़ाइन किया गया है।

आसानी से टैली कैसे सीख सकते हैं?
आप हमारे नीचे दिए गए प्लेटफॉर्म से आसानी से टैली सीख सकते हैं:
यूट्यूब चैनल से सीखे: Tally Tutorial
ब्लॉग सीखे: https://learnmoreindia.in/category/tally-tips/
हमारा टैली कोर्स चेक करें: टैली प्राइम फुल कोर्स

टैली कोर्स क्या है?
टैली मूल रूप से एक कंप्यूटर सॉफ्टवेयर है जो छोटे और बड़े उद्योगों द्वारा लेखांकन उद्देश्यों के लिए व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है यह एक लेखा सॉफ्टवेयर है जहां सॉफ्टवेयर की सहायता से सभी बैंकिंग और लेखा परीक्षा, लेखा कार्य किए जाते हैं।
Tally Course from Beginners to Advance : Language: Hindi

टैली प्राइम और टैली ERP9.0 में क्या अंतर है?
टैली प्राइम और टैली ERP मे अंतर जानने के लिए हमारा यह यह विडिओ देखें।

टैली में गोल्डन रूल क्या है?
टैली मे गोल्डन रूल को सीखने के लिए हमारा यह 3 Golden Rules Of Accounting Explained In Hindi ब्लॉग पढे, जहां हमने पूरी डीटेल जानकारी दी है।

क्या टैली सीखना मुश्किल है?
नहीं, टैली सीखना कठिन नहीं है। यदि आप लेखांकन की मूल बातें जानते हैं तो यह एक साधारण लेखा सॉफ्टवेयर है। … जीएसटी के आने के बाद, टैली कुछ बदलावों के साथ विकसित हुआ है, इसलिए आपको उद्योग से संबंधित पाठ्यक्रम के साथ एक प्रतिष्ठित संस्थान से उन्नत तकनीकों को सीखने की जरूरत है। टैली को लोकप्रिय रूप से एक अकाउंटिंग सॉफ्टवेयर के रूप में जाना जाता है।

टैली का आविष्कार किसने किया?
भारत गोयनका ने बिना किसी कोड के ‘द अकाउंटेंट’ नामक एक अकाउंटिंग सॉफ्टवेयर विकसित किया। उन्होंने और उनके पिता ने मिलकर 1986 में Peutronics की शुरुआत की – 1988 से इसका नाम बदलकर Tally कर दिया गया। नवीनतम संस्करण Tally 9 है जो दुनिया का पहला समवर्ती बहुभाषी व्यापार लेखा और सूची सॉफ्टवेयर है।

टैली के फ्री नोट्स कहाँ से डाउनलोड कर सकते है?
यदि आप टैली से जुड़े नोट्स फ्री मे पान चाहते है तो हमारा Telegram Channel: Learn More जॉइन करे।

टैली के फ्री टेस्ट कहाँ दे सकते है?
यदि आप टैली के बारे मे अपना ज्ञान जाँचना चाहते है तो इस लिंक पे जाके क टैली के फ्री टेस्ट दे सकते है। https://learnmoreindia.in/category/online-test/tally-online-test/

Spread the love

Leave a Comment