3 Golden Rules of Accounting in Hindi | Accounting Tips | Tally Tips

3 Golden Rules of Accounting in Hindi | Accounting Tips | Tally Tips
3 Golden Rules of Accounting in Hindi

लेखांकन के 3 सुनहरे नियम | 3 Golden Rules of Accounting in Hindi

लेखांकन के 3 सुनहरे नियम (3 Golden Rules of Accounting in Hindi) वित्तीय व्यवसाय लेनदेन (Financial Transaction) के लिए दिन प्रतिदिन दर्ज (Day to Day Record) करने का आधार हैं।

जिस पुस्तक या खाते में हम इन सभी लेनदेन (Transaction) को दर्ज  करते हैं उसे जर्नल बुक (Journal Book) के रूप में जाना जाता है।

जर्नल बुक (Journal Book) को कालानुक्रमिक क्रम में रखा गया है (अर्थात दिनांक वार / Date wise)।

खाते के सुनहरे नियमों (Golden Rules of Accounting in Hindi) को समझने के लिए, पहले, हमें खातों के प्रकार (Types of Account) को जानना होगा क्योंकि खाते के प्रकार के आधार पर लेनदेन के लिए नियम लागू होते हैं।

Types of Account in Hindi | Tally Tips

लेखांकन के सुनहरे नियमों के अनुसार, खातों को तीन श्रेणियों में विभाजित किया गया है।

 Personal Account (व्यक्तिगत खाता)Real Account (वास्तविक खाता)Nominal Account (नाममात्र खाता)
DebitThe Receiver (पानेवाले/ प्राप्तकर्ता)What Comes In (जो आता है)All Expenses and Losses (सभी खर्चों और नुकसान)
CreditThe Giver (देनेवाले/ देता)What Goes Out (जो जाता है)All Income and Gains (सभी आय और लाभ)
Types of Account in Hindi

चलिए इसे थोड़ा और सरल और आसान बनाते है, जिससे इसे समझने मे हमे काफी आसानी होगी।

 Who (कौन) Personal Account (व्यक्तिगत खाता)What (क्या) Real Account (वास्तविक खाता)Why (क्यों) Nominal Account (नाममात्र खाता)
Example (उदहारण)Firm (व्यवसाय-संघ),
Person (व्यक्ति),
Company(कंपनी)
Goods (माल),
Furniture (फर्नीचर)
Money (पैसे)
Interest (ब्याज)
Commission (आयोग)
Discount (छूट)
DebitReceiver (पानेवाला)Comes In (जो आ रहा है)For expenses (खर्चो के लिए)
CreditGiver (देनेवाला)Goes Out (जो जा रहा है)From Income (आय या आमदनी से)
Types of Account in Hindi

3 Golden Rules of Accounting in Hindi

लेखांकन (Accounting) में किसी भी प्रविष्टि (entry) को हम इन तीन व्यापक श्रेणियों (3 category) में से किसी एक के अंतर्गत ही दर्ज करते है:

  • क्या (Real / वास्तविक),
  • कौन (Personal / व्यक्तिगत) और,
  • क्यों (Nominal / नाममात्र)

इसलिए मूल रूप से, यह बताता है कि:

  • Nominal Account: लेनदेन क्यों (Why) हुआ है;
Nominal Account
  • Real Account: क्या (What) वस्तुएं बाहर आ रही हैं या बाहर जा रही हैं।
Real Account
  • Personal Account: कौन (Who) प्राप्त कर रहा है या दे रहा है।
Personal Account

उदाहरण के लिए, आपने 25,000 नकद देकर कंप्यूटर खरीदा।

यहां, आप एक कंप्यूटर प्राप्त कर रहे हैं, इसलिए इसे Debit किया जायेगा, और नकद को Credit किया जाना चाहिए क्योंकि यह बाहर जा रहा है।

इसे तर्क के आधार पर समझते है, सरल भाषा में कंप्यूटर खरीद का उपरोक्त लेनदेन (Transactio) बन जाता है।-

क्या खरीद? – Computer (कंप्यूटर), इसलिए Debit हो गया।

क्या अदा किया? – Cash रुपये, इसलिए Cash को Credit किया गया।

इसके बारे में सुनिश्चित करने के लिए एक और उदाहरण लेते हैं। नकद में 5,000 का बिजली बिल भुगतान किया।

पैसा क्यों चुकाया गया? – बिजली खर्च के लिए, इसलिए बिजली को Debit किया गया।

क्या अदा किया? Cash रुपये, इसलिए कैश को Credit किया गया।

अगली बार जब आप Debit और Credit के बारे में उलझन में हों, तो बस याद रखें क्या, कौन और क्यों

Debit and Credit Golden Rules of Accounting in Hindi

चलिए अब इसे विस्तार में सझते है।

क्या आप अभी भी Debit और Credit के बारे उलझ गए हो?

अगर  हां, आप में से कुछ की तरह, यहां तक ​​कि मैं भी अपने शुरुआती दिनों में हैरान था।

इसमें उनलझने जैसी कोई बात नहीं शुरुवात में थोड़ी परेशानी हर किसी को आती है।

लेकिन नीचे कुछ तर्क और नियमो का पालन करने के बाद, हम डेबिट और क्रेडिट पर अपनी समझ कायम कर पाएंगे और उसके बाद, हम इसका हर बार सही ढंग से इस्तेमाल करेंगे।

लेखांकन के सुनहरे नियमों (Golden Rules of Accounting) के साथ शुरुआत करने के बजाय, हमें निचे दिए गए Debit और Credit को Table में समझने की कोशिश करेंगे

DebitCredit
Positive (+) (सकारात्मक (+))Negative (-) (नकारात्मक (-))
Come (आनेवाला)Go (जानेवाला)
Receive (प्राप्त करना)Give (देना)
Receiver (प्राप्त करनेवाला)Giver (देनेवाला)
Deposit (जमा करना)Withdraw (निकालना या लेना)
Increasing (बढना या बढ़ रहा है)Decreasing (घटना या घट रहा है)

उपरोक्त Table से, यह स्पष्ट है कि यह अब न तो एक सिद्धांत है और न ही एक उलझने वाले विषय है – यह सिर्फ तर्क और तर्क है। संक्षेप में – डेबिट आनेवाला/ जमा के बारे में है और क्रेडिट सभी जानेवाला / निकासी या निकालने के बारे में है।

Tally Prime With GST Returns Course in Hindi

क्या आप भी Tally को सीखना चाहते है?

अगर हाँ, तो मैं आपको बटन चाहूँगा की नए साल के शुभ अवसर पे हमारे eLearning Platform LEARN MORE PRO पे सभी कोर्स पे 60% डिस्काउंट का ऑफर चल रहा है। जिसमे Tally Prime का कोर्स इंकलूडेड है। अगर आप Tally को सीखना चाहते है तो आपको इस कोर्स को जरूर Enroll करना चाहिए क्युकी इस कोर्स Tally Prime के अलावा Tally ERP 9 के ट्यूटोरियल भी बताया गया है।

इसमे आपको Accouting, Tally, GST, TDS, Payroll, Service Ogranosation, Manufacturing Organisation और GST Return कैसे फाइल किया जाता है यह भी बताया गया है।

तो इस कोर्स मे आपको हर एक टॉपिक को बारीकी से इक्स्प्लैन किया है। अगर आप Account बैकग्राउंड से नहीं है तो इस कोर्स को आप कर सकते है क्युकी इस कोर्स मे आपको Account के बारे मे भी शुरू से बताया गया है।

तो मैं आपको यही सग्जेस्ट करूंगा एक बार वेबसाईट पे जाए और इस कोर्स को जरूर चेक करें।

Conclusion: आपने क्या सीखा?

आज के इस आर्टिकल मे आपने 3 Golden Rules of Accounting in Hindi मे सीखा। जिसमे आपने Personal, Real और Nominal Account के बारे मे जाना। Account मे इन 3 accounts के अंदर किस तरह की एंट्री दर्ज की जाती है उसकी जानकारी प्राप्त की।

3 Golden Rules of Accounting in Hindi को सीखने के बाद आपको Tally के Vouchers मे एंट्री पास करने मे बड़ी आसानी होती है।

इसीलिए Tally Tips के अंदर आज के इस टॉपिक मे हमने 3 Golden Rules of Accounting in Hindi की जानकारी आपके साथ शेयर की। हमे कमेन्ट करके जरूर बताए आज का आर्टिकल 3 Golden Rules of Accounting in Hindi आपको कैसा लगा?

Spread the love

Satish Dhawale

मुझे कंप्यूटर शिक्षण के क्षेत्र में 14 साल का अनुभव है, मैं NRIT संस्थान में ट्यूटर हूँ जहाँ मैंने 14 वर्षों के अंतराल में 40000 से अधिक छात्रों को कंप्यूटर शिक्षा दी। उसके बाद मैंने अपना YouTube चैनल Learn More शुरू किया, जहाँ लोगों ने मेरी शिक्षण शैली को पसंद किया और उनके प्यार से मैं सफल रहा हूँ। आज मेरे पास 7 यूट्यूब चैनल हैं। मैंने अपनी ब्लॉगिंग वेबसाइट भी शुरू की है जहाँ आप अभी हैं। यहाँ मैं कंप्यूटर, MS Office, Tally, MSCIT, Photoshop आदि के बारे में सभी महत्वपूर्ण और ज्ञानवर्धक जानकारी प्रदान करता हूँ। हमारे शैक्षिक मंच www.learnmorepro.com जहां हम सस्ते दर पर कंप्यूटर कोर्स प्रदान करते हैं।

This Post Has 10 Comments

  1. Pavan kumar

    Sir hame tally ERP 9 me journal entry ka pdf note Hindi me samajhna hai

      1. Akshita jain

        Plz advance tally

Leave a Reply